निज भाषा उन्नति अहै, सब भाषा को मूल, बिनु निज भाषा ज्ञान के, मिटै न हिय को शूल ।

जिंदगी

यूँ तो गफलत में

कट रही है जिंदगी

कभी तो सुकून से

जिया करो ऐ जिंदगी !!

इस भीड़ की

चका-चौंध में

खो सी गई है

मेरी जिंदगी !!

कभी तो घर लौट आ समय से

कभी तो घर लौट आ समय से

देख दरवाजे पर 

बाहें फैलाए  खड़ी है,

तेरी जिंदगी !!

 

-- अराधना गुप्ता,

अधिकारी,

बैंक ऑफ इंडिया, 

टेल्को शाखा, 

जमशेदपुर

 

संपर्क करें

सुदीप सैनी
सचिव सह वरिष्ठ प्रबन्धक, बैंक ऑफ इंडिया आंचलिक कार्यालय, मुजफ्फरपुर
ईमेल : tolicmuzaffarpur@gmail.com
फोन : +91 621 2217622,
मोबाइल  +91 8809901139,9646497115